आयुर्वेदिक उपचार

 

आयुर्वेद या जीवन विज्ञान का विकास 600 ई.पू. के आस-पास हुआ माना जाता है। यह प्राथमिक रूप से रोगों की रोकथाम के साथ-साथ उनके उपचार पर केंद्रित पद्धति है। इसका लक्ष्य व्यक्ति का समग्र विकास और प्रकृति के उपहारों के अधिकतम उपयोग करना है। आयुर्वेद ने शताब्दियों से व्यक्तियों और परिवारों को उपचार और स्वास्थ्य प्रदान किए हैं। राज्य में कई आयुर्वेद केंद्र हैं जिनके पास सुप्रशिक्षित स्टाफ हैं जो अनेक प्रकार के रोगों के उपचार में सिद्धहस्त होते हैं। कई सारे सरकार-प्रायोजित और निजी क्षेत्र की कंपनियां है जो इस क्षेत्र में गहन अनुसंधान में संलग्न हैं। नीचे एक वीडियो प्रेजेंटेशन दिया गया है जो इस प्राचीन उपचार पद्धति के कुछ पहलुओं को प्रदर्शित करते हैं जो केरल में 1000 सालों से अधिक समय से फल-फूल रहे हैं।

District Tourism Promotion Councils KTDC Thenmala Ecotourism Promotion Society BRDC Sargaalaya SIHMK Responsible Tourism Tourfed KITTS Adventure Tourism Muziris Heritage KTIL

टॉल फ्री नंबर: 1-800-425-4747 (केवल भारत में)

डिपार्टमेंट ऑफ़ टूरिज्म, गवर्नमेंट ऑफ़ केरल, पार्क व्यू, तिरुवनंतपुरम, केरल, भारत - 695 033
फोन: +91 471 2321132, फैक्स: +91 471 2322279, ई-मेल info@keralatourism.org, deptour@keralatourism.org.
सर्वाधिकार सुरक्षित © केरल टूरिज्म 2017. कॉपीराइट | प्रयोग की शर्तें. | इनविस मल्टीमीडिया द्वारा विकसित व अनुरक्षित.