मून्नार

 

तीन पहाड़ी धाराएँ मुतिरापूझा, नल्लथन्नी और कुंडला जहाँ मिलती हैं, वहाँ मून्नार का उदय होता है। समुद्र तट से लगभग 1600 मीटर ऊपर स्थित यह हिल स्टेशन कभी दक्षिण भारत में ब्रिटिश सरकार के गर्मियों का विश्राम स्थल हुआ करता था। बेतरतीब फैले हुए चाय के बागान, तस्वीर से दिखते नगर, बहती हवा सी सड़कें और छुट्टी मनाने की विभिन्न सुविधाएँ इसे लोकप्रिय रिसोर्ट वाला शहर बनाती हैं। यहाँ के जंगलों और घास के मैदानों में पाए जाने वाली विशेष वनस्पति नीलाकुरिंजी है। यह नीला फूल बारह वर्षों में एक बार खिलता है। अगली बार यह 2018 में खिलेगा। मून्नार में दक्षिण भारत की सबसे ऊंची चोटी भी है जो 2,695 मीटर की है। आनामुड़ी ट्रैकिंग की अच्छी जगह है।

आइए, अब हम मून्नार के आसपास उपलब्ध कुछ विकल्पों को देखें जो यात्रियों को मून्नार के खूबसूरत हिल स्टेशन का मज़ा लेने के अनेक अवसर देंगे।

इरविकुलम राष्ट्रीय उद्यान

मून्नार के पास का एक मुख्य आकर्षण इरविकुलम राष्ट्रीय उद्यान है। यह उद्यान विलुप्तप्राय जंतु नीलगिरि थार के लिए प्रसिद्ध है। 97 वर्ग कि.मी. के क्षेत्रफल में फैला यह उद्यान दुर्लभ तितलियों, जानवरों और पक्षियों की अनेक प्रजातियों का भी घर है। ट्रैकिंग के लिए सर्वोत्तम जगह इस उद्यान में कोहरे की चादर से ढके चाय के बागान देखने में बहुत सुंदर दिखते हैं। नीलाकुरिंजी के खिलने के कारण जब ये पहाड़ी ढलान नीले रंग के हो जाते हैं तो यह उद्यान गर्म स्थल बन जाता है। पश्चिमी घाट के इस इलाके के इस पौधे में बारह वर्षों में एक बार फूल खिलते हैं।

आनामुड़ी चोटी

यह चोटी इरविकुलम राष्ट्रीय उद्यान के भीतर स्थित है। यह दक्षिण भारत की सबसे ऊँची चोटी है जो 2700 मीटर ऊंची है। इरविकुलम में वन और वन्यजीव प्राधिकारियों की अनुमति से आप इस चोटी में ट्रैकिंग कर सकते हैं।

माट्टूपेट्टी

यह भी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है जो मून्नार नगर से लगभग 13 कि.मी. दूर स्थित है। समुद्र तल से 1700 मीटर की ऊंचाई पर स्थित माट्टूपेट्टी अपने स्टोरेज मेसनरी बांध और सुंदर झील के लिए जाना जाता है जिसमें आप आनंददायक बोट की यात्रा कर सकते हैं और आसपास की पहाड़ियों और भूभाग के नज़ारे देख सकते हैं। माट्टूपेट्टी इंडो-स्विस लाइवस्टॉक परियोजना द्वारा संचालित डेयरी के लिए भी प्रसिद्ध है जहाँ आप अधिक मात्रा में दूध देने वाली गायों की विभिन्न नस्लों को देख सकते हैं।

पल्लिवासल

पल्लिवासल जो मून्नार के चितिरापुरम से लगभग 3 कि.मी. दूर स्थित है, में केरल की पहली हाइड्रो-इलेक्ट्रिक परियोजना स्थापित की गई है। यह बहुत सुंदर जगह है और अक्सर लोग यहाँ पिकनिक मनाने आते हैं।

चिन्नक्कनाल और आनयिरंगल

मून्नार नगर के पास ही चिन्नक्कनाल और उसके जलप्रपात हैं जिन्हें पावर हाउस वाटरफॉल के नाम से जाना जाता है, जिसका पानी समुद्र तल से 2000 मीटर ऊपर चट्टानों पर गिरता है। इस जगह से पश्चिमी घाट की श्रेणियों का सुंदर नज़ारा दिखता है। चिन्नक्कनाल से लगभग सात किलोमीटर की यात्रा करने पर आप आनयिरंगल पहुँचेंगे। आनयिरंगल जो मून्नार से 22 कि.मी. दूर है, में चाय के बागान की हरी भरी कालीन दिखेगी। यहाँ के कभी न भूलने वाले सरोवर की यात्रा ज़रूर करें। आनयिरंगल बांध चाय के बागों और सदाबहार वनों से घिरा है।

टॉप स्टेशन

टॉप स्टेशन जो मून्नार से लगभग 32 कि.मी. दूर है, समुद्र तल से 1700 मीटर की ऊँचाई पर है। यह मून्नार-कोडैक्कनल रोड का सबसे ऊंचा बिंदु है। मून्नार जाने वाले यात्री टॉप स्टेशन ज़रूर जाते हैं जहाँ से पड़ोस के राज्य तमिलनाडु का खूबसूरत नज़ारा देखने को मिलता है। यह मून्नार के प्रमुख दर्शनीय स्थलों में है जहाँ आप बड़े इलाके में नीलाकुरिंजी फूलों को खिलते देख सकते हैं।

चाय का म्यूज़ियम (चाय संग्रहालय)

चाय के बागानों की शुरुआत और विकास होने की बात होती है तो मून्नार की अपनी विरासत है। इस विरासत के बारे में जानने और केरल के ऊंचे इलाकों में चाय के बागान की शुरुआत और विकास के रोचक पहलुओं के बारे में जानने के लिए, मून्नार में टाटा टी द्वारा कुछ वर्ष पहले विशेषकर चाय का एक संग्रहालय खोला गया। चाय के इस संग्रहालय में कलाकृतियाँ, तस्वीरें और मशीनरी रखे गए हैं और मून्नार में चाय के बागानों के विकास के बारे में यहाँ रखी हर एक चीज़ कुछ न कुछ कहती है। यह म्यूज़ियम मून्नार के टाटा टी के नल्लथन्नी एस्सेट में है और इसे देखने का अपना मज़ा है।

कैसे पहुँचे

नज़दीकी रेल्वे स्टेशन – आलुवा जो लगभग 108 कि.मी. और अंगमालि जो लगभग 109 कि.मी. दूर है।
नज़दीकी एयरपोर्ट – कोचिन अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट, आलुवा-मून्नार रोड से, लगभग 108 कि.मी.

लोकेशन

अक्षांश: 10.091234, देशांतर: 77.060051

भौगोलिक सूचना

वर्षा – 275 सें.मी.

नक्शे


District Tourism Promotion Councils KTDC Thenmala Ecotourism Promotion Society BRDC Sargaalaya SIHMK Responsible Tourism Tourfed KITTS Adventure Tourism Muziris Heritage KTIL

टॉल फ्री नं.: 1-800-425-4747 (केवल भारत में)

पर्यटन विभाग, केरल सरकार, पार्क व्यू, तिरुवनंतपुरम, केरल, भारत - 695 033
फोन +91 471 2321132, Fax: +91 471 2322279, ई-मेल info@keralatourism.org
सर्वाधिकार सुरक्षित © केरल पर्यटन 2017, कॉपीराइट | प्रयोग की शर्तें। इनविस मल्टीमीडिया द्वारा विकसित व अनुरक्षित.