काप्पाड बीच

 

काप्पाड बीच ने केरल के इतिहास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इस तट पर लगभग 500 साल पहले 1498 में वास्को-द-गामा के नेतृत्व में 170 लोगों ने केरल में कदम रखे थे। संपूर्ण राज्य खासकर मलबार तट ऐसा फिर कभी नहीं हुआ।

कोष़िक्कोड की यात्रा इस ऐतिहासिक स्थल पर आए बिना अधूरी है। इस बीच से होकर मसाला मार्ग गुजरता था। इस स्थल और इसके आस-पास घूमने से इसकी ऐतिहासिक प्रासंगिकता का पता चलता है। चट्टानें और पहाड़ियां इसके आकर्षण में इजाफा करते हैं। नजदीकी कुटीरों में स्थानीय खान-पान और चाय मिल जाते हैं। समय-समय पर यहां प्रवासी पक्षी भी देखे जा सकते हैं। काप्पाड बीच सही मायने में एक शानदार गंतव्य है, जिसका हमारे इतिहास में महत्वपूर्ण स्थान है।

यहां पहुंचने के लिए

नजदीकी रेलवे स्टेशन: कोष़िक्कोड, NH 17 से होकर लगभग 35 कि.मी. | नजदीकी एयरपोर्ट: कालिकट इंटरनेशनल एयरपोर्ट, NH 17 से होकर लगभग 45 कि.मी. |

अवस्थिति

अक्षांश: 11.389167, देशांतर: 75.717716

District Tourism Promotion Councils KTDC Thenmala Ecotourism Promotion Society BRDC Sargaalaya SIHMK Responsible Tourism Tourfed KITTS Adventure Tourism Muziris Heritage KTIL

टॉल फ्री नंबर: 1-800-425-4747 (केवल भारत में)

डिपार्टमेंट ऑफ़ टूरिज्म, गवर्नमेंट ऑफ़ केरल, पार्क व्यू, तिरुवनंतपुरम, केरल, भारत - 695 033
फोन: +91 471 2321132, फैक्स: +91 471 2322279, ई-मेल info@keralatourism.org, deptour@keralatourism.org.
सर्वाधिकार सुरक्षित © केरल टूरिज्म 2017. कॉपीराइट | प्रयोग की शर्तें. | इनविस मल्टीमीडिया द्वारा विकसित व अनुरक्षित.